केन्द्र व उप्र सरकार की कानून-व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त : अपना दल

लखनऊ। अपना दल राष्ट्रीय, प्रान्तीय, मण्डल व जिला की संयुक्त बैठक 7 दिसम्बर को केन्द्रीय कार्यालय में राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष आनन्द हीरा राम पटेल की अध्यक्षता में संपन्न हुई। संचालन प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य महेन्द्र प्रताप मौर्य ने किया।
दल के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष आनन्द हीरा राम पटेल ने बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि अपना दल के संस्थापक डा. सोनेलाल पटेल ने पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों के विकास के लिए हमेशा प्रयत्नशील रहते थे। दल का प्रत्येक कार्यकर्ता डा. सोनेलाल पटेल बन दल को दिन प्रतिदिन मजबूत करने के लिए प्रयासरत है।
श्री पटेल ने मोदी व योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार की कानून-व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है सिर्फ झूठी बयानबाजी कर रही है सरकार। हर रोज एक न एक घटनाएं हो रही है। आये दिन महिलाओं, बेटियों के साथ ब्लात्कार की घटनाओं को देखकर जनता में आक्रोष व्याप्त है। अभी हाल ही में डा. प्रियंका रेड्डी को इंसाफ मिला ही था कि उन्नाव की पीड़ित युवती ने अब इस दुनिया को अलविदा कर दिया जो बहुत ही कष्टदायक है। प्रदेश भर में महिलाओं पर जुल्म रोकने में नाकाम योगी सरकार को विशेष रूप से आगाह किया है कि भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो। प्रदेश में जंगलराज कायम है यह बात सर्वोच्च न्यायालय भी कह चुका है। बढ़ते अपराध को दृष्टिगत रखते हुए योगी जी को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए। अपना दल केन्द्र सरकार से मांग करता है कि महिलाओं की सुरक्षा के प्रति संवेदनशील हो, महिलाओं को सेल्फ डिफेंस का प्रशिक्षण दिया जाय जिससे वह अपनी सुरक्षा स्वयं कर सके।
  दल के प्रवक्ता एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य आरबी सिंह पटेल ने कहा कि धान का समर्थन मूल्य केन्द्र द्वारा 1850 ₹ तय किया गया है। नमी के नाम पर किसानों का धान लेने से मना किया जा रहा है जिससे किसान को अपने धान को औने-पौने दाम पर बेचना पड़ रहा है यह किसानों के साथ नाइंसाफी है अब अपना दल इसको बर्दास्त नहीं करेगा।
श्री पटेल ने आगे बताया कि केन्द्र सरकार का ''बेटी बचाओ अभियान पूर्णरूपेण फ्लाप'' है। देश की जनता का केन्द्र व प्रदेश सरकार पर विश्वास खत्म हो गया है। अपना दल महिलाओं की सुरक्षा को लेकर जिला मुख्यालयों पर 10 दिसम्बर को काला दिवस मनायेगा, 19 दिसम्बर को संस्थापक सदस्य इं. बलिहारी पटेल जी का 20वां परिनिर्वाण दिवस मनायेगा तथा 27 दिसम्बर को किसानों की दयनीय स्थिति, बेतहाशा बढ़ती हुई महंगाई और बेरोजगारी को लेकर प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर एक दिवसीय धरना देकर केन्द्र व प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों को उजागर करेगा।
बैठक में प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य स्वामीनाथ पटेल, जिलाध्यक्ष उमेश चन्द्र मौर्य, डा. दल बहादुर पटेल, सुनील पटेल, हंसराज पटेल आदि ने अपने विचार रखें। बैठक पश्चात डा. प्रियंका रेड्डी व उन्नाव की रेप पीड़िता के निधन पर अपना दल ने शोकसभा कर श्रद्धांजलि अर्पित की।


Popular posts
कोरोना : "विनय न मानत जलधि जड़ गए तीनि दिन बीति। बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति॥"
Image
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image