जनता की समस्याओं का त्वरित गति से निदान करायें अधिकारी : केशव प्रसाद मौर्य
लखनऊ। उप मुख्यमंत्री ने लखनऊ स्थित 7-कालीदास मार्ग अपने कैम्प कार्यालय पर प्रदेश के दूरदराज जिलों से आए विभिन्न लोगों की समस्याओं को उनसे रूबरू होते हुये गम्भीरतापूर्वक सुना और सम्बन्धित अधिकारियों को समस्याओं को निर्धारित समय सीमा के अन्दर निस्तारण के निर्देश दिए और कहा कि समस्याओं का निराकरण त्वरित गति से किया जाय। उन्होने जोर देते हुये कहा कि निस्तारण गुणवत्तापूर्ण होना चाहिए ताकि किसी फरियादी को दुबारा उस समस्या के निदान हेतु परेशान न होना पड़े।

श्री मौर्य ने कहा कि जन समस्याओं का त्वरित निस्तारण कराना सरकार की प्रमुख प्राथमिकता है। उन्होने कहा कि अधिकारी शासन की मंशा को समझे और सरकार की प्राथमिकताओं व जन आकांक्षाओं के अनुरूप अपने दायित्वों का निष्ठापूर्वक निर्वहन करें। जन समस्याओं के निराकरण में किसी भी स्तर पर लापरवाही या उदासीनता किसी भी दशा में क्षम्य नहीं होगी। जनता दर्शन में विभिन्न विभागों से सम्बन्धित प्रकरण आए। उपमुख्यमंत्री ने सभी मामलों में सम्बन्धित अधिकारियों को यथोचित कारवाई कर न्याय दिलाने के निर्देश दिये।

जनता दर्शन में देवरिया, रायबरेली, बाराबंकी, श्रावस्ती, फिरोजाबाद, वाराणसी, सम्भल, कानपुर, सन्तकबीरनगर, लखीमपुर, सीतापुर, बुलन्दशहर, चित्रकुट, झांसी, बलियां, महराजगंज, पीलीभीत, मुजफ्फरनगर आदि जिलों से आये लोगों ने अपनी समस्याएं रखीं। रायबरेली के हिमालय मिश्रा, बृजलाल मिश्रा, वाराणसी के राजकुमार गुप्ता ने भूमि विवाद से सम्बन्धित प्रकरणों के निस्तारण का अनुरोध किया। फिरोजाबाद के हरिचरन ने असंक्रमणीय भूमि को संक्रमणीय कराने का अनुरोध किया। बाराबंकी के संदीप कुमार ने एफआईआर में दर्ज अभियुक्तों की गिरफ्तारी कराने का अनुरोध किया। उपमुख्यमंत्री ने सभी प्रकरणों के निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित अधिकारी व सम्बन्धित जिलाधिकारियों को दिये।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज प्रयागराज में भी अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद सर्किट हाउस मं दूरदराज भागों से आये विभिन्न लोगों की समस्याएं सुनी व उनके निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये।

Popular posts
कोरोना : "विनय न मानत जलधि जड़ गए तीनि दिन बीति। बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति॥"
Image
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image