अनाधिकृत वाहनों को सीज कर एफआईआर भी दर्ज कराई जाय : आरके सिंह
लखनऊ। प्रमुख सचिव परिवहन आरके सिंह ने कहा कि जिन डग्गमार वाहनों को चलान कर निरूद्ध किया जाता है तथा जो लगातार छूटने के पश्चात बार-बार पकडे़ जाने के बावजूद भी पुनः अनाधिकृृति संचालन करते पाये जाते है, उनका परमिट निरस्त किया जाय। उन्होंने कहा कि साथ ही उनकी सूची बना कर उनका पंजीकरण निरस्त एवं ड्राइविंग लाइसेन्स निरस्त की कार्यवाही नियमानुसार की जाय।

   श्री सिंह ने यह निर्देश आज उप्र परिवहन निगम के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में दिये। उन्होंने कहा कि जो बसे परिवहन निगम के रंग एवं आकार में बनाकर अनाधिकृत रूप से संचालित हो रही है, उन वाहनों को सीज करते वक्त उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई जाय। ऐसी वाहनों की सूचना भी जनसामान्य को मीडिया के माध्यम से अवगत करायी जाय, जिससे यात्रियों को भी जानकारी रहे कि ये बसे परिवहन निगम की नहीं बल्कि अनाधिकृत रूप से संचालित है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अनाधिकृृत वाहनों से यात्रियों को हो रही असुविधा, अनियत्रिंत संचालन से बढ़ रही दुर्घटनाएं तथा प्रदूषण के कारण जनसामान्य के स्वास्थ्य पर भी कुप्रभाव पड़ रहा है। इन बसों के संचालन से एक ओर करो की चोरी हो रही है तथा दूसरी ओर परिवहन निगम को इन अनाधिकृत संचालन से आय में भारी क्षति पहुॅच रही है। इस प्रभावी अंकुश लगाया जाय।

परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने कहा कि निरंतर संयुक्त चेकिंग के माध्यम से परिवहन विभाग एवं परिवहन निगम द्वारा इन वाहनों का निरीक्षण कर लगातार कार्यवाही की जा रही है। प्रदेश सरकार एवं परिवहन निगम को हो रही हानि के दृष्टिगत एक अभियान के तहत प्रभावी संयुक्त चेकिंग अभियान को चलाने के निर्देश दिये गये है। संयुक्त चेकिंग अभियान के तहत 11 दिसम्बर से से 20 दिसम्बर तक विशेष चेकिंग अभियान सात स्थल मुख्य मार्गों पर चक्रानुक्रम परिवहन प्रवर्तन अधिकारी एवं निगम के सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धक एवं यातायात अधीक्षक का डयूटी 10 दिवस हेतु लगायी गयी है। इसके अतिरिक्त प्रत्येक जनपद में सहायक परिवहन अधिकारी, प्रवर्तन एवं सहायक क्षेत्रीय प्रबन्धकों के साथ भी संयुक्त चेकिंग युद्ध स्तर पर करायी जा रही है। दिनांक 11.12.2019 से 16.12.2019 तक प्रथम पाॅच दिवसों में पूरे प्रदेश में कुल 5303 वाहनों का निरीक्षण कर 2412 वाहनों का चालान किया गया तथा 717 वाहनों को संचालन से निरूद्ध कर बन्द किया गया।

प्रबन्ध निदेशक, उत्तर प्रदेश परिवहन निगम, डा. राजशेखर के द्वारा परिवहन निगम मुख्यालय तथा क्षेत्रीय मुख्यालयों पर स्थापित वीडियों कांफ्रेंस यंत्र के माध्यम से जनपदवार एवं क्षेत्रीय अधिकारियों द्वारा की गई संयुक्त चेकिंग अभियान की समीक्षा आज दिनांक 17.12.2019 को की गई। इस अभियान में इटावा, झांसी, आगरा तथा प्रयागराज क्षेत्रों के कार्यों में प्रभावी परिणाम नहीं अर्जित करने के लिए सख्त निर्देश दिये गये तथा अगले पाॅच दिवसों में सुधार परिलक्षित नहीं होगा तो सम्बन्धित अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।

Popular posts
कोरोना : "विनय न मानत जलधि जड़ गए तीनि दिन बीति। बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति॥"
Image
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image