उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की संकलित सूची बनाने के निर्देश
- उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की सुविधा के लिए बनेगा वेब पोर्टल

 

लखनऊ, 14 नवम्बर। उत्तर प्रदेश के एनआरआई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की संकलित सूची बनाई जाय। साथ ही उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों की सुविधा के लिए प्रभावी एनआरआई वेब पोर्टल भी तैयार कराया जाय, ताकि एक क्लिक पर उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों को राज्य सरकार द्वारा संचालित समस्त योजनाओं की जानकारी प्राप्त हो सके। उन्होने कहा कि प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में प्रवासी भारतीयों की अहम भूमिका है। इसके लिए निवेश प्रोत्साहन एवं एनआरआई विभाग को एक साथ मिल कर काम करने की आवश्यकता है।

     श्री सिंह आज सचिवालय स्थित अपने कार्यालय कक्ष में एनआरआई विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीयों के माध्यम से राज्य में निवेश लाने को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है। इसके लिए प्रवासी भारतीयों को तमाम प्रकार की सहूलियत एवं सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जायेंगी। उन्होंने निर्देश दिए कि बड़ी संख्या में प्रवासी भारतीय राज्य का भ्रमण करें, इसके लिए पर्यटन को बढ़ावा दिया जाय। साथ ही उत्तर प्रदेश के प्रवासी भारतीय पर्यटकों की सुविधा के लिए आकर्षक पैकेज भी बनाये जायं। उन्होनें कहा कि उप्र के प्रवासी भारतीयों की समस्याओं को वेब पोर्टल के माध्यम से जल्द से जल्द निस्तारण की व्यवस्था की जायेगी।

     एनआरआई मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश में पहला ऐसा राज्य होगा, जो भारत सरकार के लिए इस क्षेत्र में एमओयू साइन करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि राज्य में निवेश बढ़ाने के लिए भविष्य में आयोजित होने वाले रोड-शों में एनआरआई विभाग को कनेक्ट किया जायेगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि एनआरआई विभाग के ढांचे को मबजूती प्रदान के लिए दिये गये निर्देशों का जल्द से जल्द अनुपालन सुनिश्चित किया जाय। बैठक में प्रमुख सचिव एनआरआई आलोक कुमार सहित बड़ी संख्या में विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Popular posts
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
पूर्वांचल विकास निधि से मिर्जापुर व बलिया के 4 मार्गों के निर्माण को धनराशि आवंटित
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image