सरकार गांव, गरीब व किसानों के सर्वांगीण विकास को प्रतिबद्ध : केशव मौर्य
लखनऊ। राज्यपाल राजस्थान कलराज मिश्र ने कहा कि महात्मा गांधी का जीवन दर्शन राष्ट्र के विकास के लिए आज भी प्रासंगिक है, उनका पूरा जीवन ही एक सन्देश है। गांधी के ग्राम स्वराज का मतलब ही है गांवों को आत्मनिर्भर बनाना। गांवों को आत्मनिर्भर होना, शिक्षा, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता के प्रति जागरूक होना ग्राम स्वराज की पहली शर्त है और इस दिशा में हमें आगे बढ़ना होगा।

राज्यपाल कलराज मिश्र आज दिनकर विचार मंच द्वारा किसान पीजी काॅलेज ग्राउण्ड सेवरही, कुशीनगर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती वर्ष पर ''राष्ट्र विकास में ग्राम स्वराज की भूमिका'' पर आयोजित गोष्ठी को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होने अपने सम्बोधन में गांधी जी के जीवन सुकृत्यों से प्रेरणा लेने का आह्वान किया।

उप्र के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने अपने अर्थपूर्ण व सारगर्मित सम्बोधन में कहा कि गांधी के आदर्श व उनके सिद्धान्तो से हम सबको न केवल प्रेरणा लेनी चाहिए बल्कि उन्हे आत्मसात् भी करना चाहिए। उन्होने कहा कि स्वतंत्रता के बाद भारत कैसा हो, इस पर गांधी का चिन्तन आज भी प्रासंगिक है। गांवों और किसानों को गांधी देश की आवाज बनाना चाहते थे। श्री मौर्य ने कहा कि गांधी ने अहिंसा के बल पर दुनिया जीत लेने का मूलमन्त्र दिया था। उन्होने कहा कि गांधी के पद चिन्हो पर ही चलकर देश आगे बढेगा।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इस दौरान जनपद कुशीनगर की 61521 लाख ₹ की धनराशि की 66 परियोजनाओं का लोकार्पण ध्शिलान्यास किया। उन्होने 16127 लाख ₹ की धनराशि के 58 की सड़क परियोजनाओं तथा 2761.58 लाख ₹ की लागत से बने 03 पुलों का लोकार्पण किया। इसके अलावा 42632 लाख ₹ की लागत से बनने वाली 05 सड़क परियोजनाओं का शिलान्यास भी किया।

इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में चलाई जा रही अनेकानेक महात्वाकांक्षी व जनकल्याणकारी योजनाओं की चर्चा करते हुए कहा कि सबका-साथ सबका-विकास व सबका-विश्वास के सिद्धान्त के अनुरूप देश व प्रदेश का समग्र विकास किया जा रहा है। उन्होने सोशल सेक्टर की योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सभी पात्र लोग इन योजनाओं से भरपूर लाभ उठाये। उन्होने कहा कि अधिकारी, योजनाओं का क्रियान्वयन पूरी निष्ठा व इमानदारी के साथ करें, कोई भी पात्र व्यक्ति योजनाओं का लाभ पाने से वंचित न रहने पाये। उन्होने कहा कि जनता व किसानों का हित सर्वोपरि रखते हुए विभिन्न योजनाओं को अमलीजामा पहनाया जा रहा है। इस कार्यक्रम की अघ्यक्षता सांसद रमापतिराम त्रिपाठी ने की। इस अवसर पर अन्य जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक व भारी संख्या में क्षेत्रीय लोग उपस्थित रहे।

Popular posts
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
पूर्वांचल विकास निधि से मिर्जापुर व बलिया के 4 मार्गों के निर्माण को धनराशि आवंटित
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image