अत्याधुनिक हथियारों से लैस होकर चलेगी अब उत्तर प्रदेष पुलिस

- उत्तर प्रदेष पुलिस को मिली 63 हजार इंसास व 23 हजार एसएलआर रायफल

लखनऊ। उत्तर प्रदेष के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देषों के अनुपालन के क्रम में उत्तर प्रदेष पुलिस को कानून व्यवस्था के दृष्टिगत अत्याधुनिक 63 हजार इंसास व 23 हजार एसएलआर रायफल से सुसज्जित किया गया। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीष कुमार अवस्थी ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि उत्तर प्रदेष पुलिस अब अत्याधुनिक हथियारों से लैस होगी। उन्होनं बताया कि वर्तमान में पुलिस कर्मियों द्वारा प्रयुक्त की जा रही थ्री नाड थ्री (.303 रायफल) को प्रतिस्थापित करते हुए उन्हे इंसास एवं एसएलआर जैसे अत्याधुनिक हथियार उपलब्ध करा दिये गये है।
श्री अवस्थी ने थ्री नाड थ्री (.303) के स्थान पर पुलिस विभाग के कर्मियों को मिली 63 हजार इंसास व 23 हजार एसएलआर रायफल को ड्यूटी के दौरान लेकर चलने के निर्देष संबंधित अधिकारियों को दिये। इस सम्बन्ध में उनके द्वारा यह आदेष जारी किये गये है कि किसी थाने पर अब .303 रायफल का उपयोग न हो, यदि उपयोग की जाती है तो संबंधित थानाध्यक्षों, प्रतिसार निरीक्षकों के विरूद्ध समुचित कार्यवाही की जाय।
अपर मुख्य सचिव, गृह ने कहा कि शांति व्यवस्था को और अधिक सुदृढ़ करने तथा अपराधों पर और अधिक प्रभावी तरीके से अंकुष लगाये जाने व महिलाओं एवं जन सामान्य को और अधिक सुरक्षित वातावरण प्रदान करने के उद्देष्य से उत्तर प्रदेष पुलिस को अत्याधुनिक हथियारों से लैस किया जा रहा है। उन्होंने पुलिस विभाग में आगामी भर्ती की प्रक्रिया को देखते हुए और अधिक अत्याधुनिक हथियारों की व्यवस्था करने के निर्देष भी संबंधित अधिकारियों को दिये।
अपर पुलिस महानिदेषक लाजिस्टिक विजय कुमार मौर्य ने अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीष कुमार अवस्थी को यह जानकारी देते हुए बताया कि आगामी भर्ती को देखते हुए 8 हजार इंसास रायफल रिजर्व मे रखी गयी है। साथ ही 8 हजार इंसास रायफल व 10 हजार, 9 एमएम पिस्टल खरीदने हेतु प्रस्ताव शासन को भेजा जा रहा है।


Popular posts
कोरोना : "विनय न मानत जलधि जड़ गए तीनि दिन बीति। बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति॥"
Image
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image