कृषि मंत्री ने विभाग के दो अधिकारियों को निलम्बित किया
- इटावा के भूमि संरक्षण अधिकारी एवं परियोजना प्रभारी निलम्बित

 

लखनऊ, 19 सितम्बर। उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के निर्देश पर इटावा के भूमि संरक्षण अधिकारी महेन्द्र सिंह एवं परियोजना प्रभारी सुशील कुमार को तात्कालिक प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है। कृषि मंत्री ने बताया कि भूमि संरक्षण इकाई सहसों, इटावा ''नगला सलहदी'' परियोजना में एनएमएसए योजनान्तर्गत कार्य निष्पादन में अनियमितता बरतने के आरोप में महेन्द्र सिंह एवं सुशील कुमार को निलम्बित किया गया है।

     श्री शाही ने बताया कि परियोजना के कतिपय लाभार्थियों द्वारा शिकायत की गयी कि योजना की धनराशि उनके खाते में न भेजकर भूमि संरक्षण अधिकारी, महेन्द्र सिंह एवं परियोजना प्रभारी, सुशील कुमार द्वारा धोखाधड़ी करते हुये अन्य किसी के खाते में स्थानान्तरित कर दी गयी। उन्होंने बताया कि उप कृषि निदेशक, भूमि संरक्षण, इटावा से द्वारा करायी गयी जांच में पाया गया कि इन कार्मिकों द्वारा मनमाने ढंग से परियोजना कार्यों को सम्पादित किया गया। अनुदान की धनराशि सही लाभार्थी के खाते में स्थानान्तरित न करके अन्य के खाते में स्थानान्तरित की गयी। इस प्रकार सम्बन्धित कार्मिकों द्वारा योजना के कार्यों में पारदर्शिता को ध्यान में न रखते हुये अनियमितता बरती गयी।

     श्री शाही ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार जीरो टाॅलरेन्स नीति के तहत कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का उद्देश्य है कि सभी जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ वास्तविक लाभार्थियों को पूरी पारदर्शिता के साथ मिले। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही एवं अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जायेगी।

Popular posts
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
पूर्वांचल विकास निधि से मिर्जापुर व बलिया के 4 मार्गों के निर्माण को धनराशि आवंटित
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image