काम बोलता था तो क्यों करना पड़ा बसपा से गठबंधन : केशव मौर्य


- बीजेपी को चुनकर आप आने वाली 10 पीढ़ी को सुधारने का करेंगे काम 

- जब तक देश में गरीबी रहेगी तब तक कांग्रेस और गठबंधन की चलेगी दुकान 

- मौनी बाबा सरकार के समय में जनता नहीं जानती थी सेना की स्ट्राइक का मतलब 

लखनऊ, 15 मई। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को सलेमपुर लोकसभा सीट के प्रत्याशी रवींद्र कुशवाहा के पक्ष में भाटपार रानी और बेल्थरा रोड में विजय संकल्प रैली में कहा कि यूपी में पिछले दो साल से बुरे दिन चले गए है। पिछले 15 साल तक हमारी यूपी की जनता ने जो दंश झेला उसका बदला 2017 में कमल का फूल उत्तरप्रदेश में खिलाकर पूरा किया। आप लोगों ने ही पहले 2014 में कमल खिलाकर केंद्र में मोदी सरकार बनाई और 2017 में 325 विधायक भेजकर यूपी की सत्ता में भाजपा को लाने में मदद की। आज प्रदेश खुशहाली की राह पर चल रहा है। अब प्रदेश में विकास की बहार योगी जी के नेतृत्व में चल रही है।


श्री मौर्य ने कहा कि अब प्रदेश की जनता के बुरे दिन चले गए है। प्रदेश में किसानों का कर्जा माफ करने से लेकर अन्य काम हमने किए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने इसको और आगे बढ़ाते हुए प्रदेश के सभी किसानों के खाते में हर साल 6 हजार रुपये भेजने का काम किया जा रहा है। श्री मौर्य ने कहा कि आप लोग 19 मई को जाकर कमल का बटन दबाइएगा। आपकी तरफ से दबाया गया कमल का बटन बीजेपी को सरकार बनाने में मदद करेगा। अगर बीजेपी सरकार बनती है तो आपकी आने वाली दस पीढ़ी को सुधारने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में मोदी जी ने 60 साल के बराबर काम किया है और आगे 100 साल के बराबर काम करेंगे।  
श्री मौर्य ने कहा कि सपा वाले बसपा को छोटा करना चाहते हैं और बसपा वाले सपा को छोटा करना चाहते हैं। ये दोनों ही आपस में खींचातनी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मायावती चाहती है कि अखिलेश न बढ़ पाएं और मायावती चाहती है कि अखिलेश न बढने पाए। इस बार फिर से यह लोग केंद्र में सरकार बनाने का सपना देख रहे हैं। यह लोग भले ही सपना देख रहे हो लेकिन जनता ने शोषण का बदला लिया है। उन्होंने कहा कि 2017 में मायावती जी यूपी में सत्ता बनाने का ख्वाब देख रही थी, लेकिन महज 19 सीटों पर रह गई।


उप मुख्यमंत्री श्री मौर्य ने कहा कि जनता सब समझ रही है जनता ने इन्हें दूध की मक्खी की तरह बाहर फेंकने का काम किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों और गरीबों का अच्छी तरह से ख्याल रखा है। उन्होंने कहा कि कभी मेरा भी मकान कच्चा था और बारिश के समय में क्या दिक्कत होती है उसको गरीब घर से प्रधानमंत्री बनने वाले मोदी जी जानते हैं, इसलिए उन्होंने संकल्प किया है कि 2022 तक हर गरीब को पक्की छत मिलेगी। 


Popular posts
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
पूर्वांचल विकास निधि से मिर्जापुर व बलिया के 4 मार्गों के निर्माण को धनराशि आवंटित
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image