पेयजल की 512 योजनाएं पूरी योगी सरकार में
 

- राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल सम्पूर्ति कार्यक्रम के अन्तर्गत 741 योजनाएं निर्माणाधीन 

 

लखनऊ, 5 अगस्त। राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल सम्पूर्ति कार्यक्रम के अन्तर्गत चालू वित्तीय वर्ष में 741 योजनाएं निर्माणाधीन है। जिसके सापेक्ष 476 योजनाओं को पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें से गत मई तक 26 योजनाएं पूरी की जा चुकी है। 

प्रमुख सचिव ग्राम्य विकास अनुराग श्रीवास्तव ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल सम्पूर्ति कार्यक्रम वर्ष 2009 से भारत सरकार द्वारा त्वरित ग्रामीण पेयजल योजना को नया रूप देते हुए लागू किया गया था। यह योजना 50 प्रतिशत केन्द्र सरकार के सहयोग से संचालित की जा रही है। 

प्रमुख सचिव ने आगे बताया कि वर्ष 2018-19 के शुरूआत में 1149 पाइप पेयजल योजनाएं निर्माणाधीन थी। सामान्य एवं गुणवत्ता प्रभावित क्षेत्रों में पेयजल योजनाआं को पूरा किये जाने के लक्ष्य के सापेक्ष 512 योजनाएं पूरी कर ली गयी है। उन्होंने बतया कि राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल सम्पूर्ति कार्यक्रम के अन्तर्गत निर्माणाधीन योजनाओं को निर्धारित अवधि में पूरा किये जाने हेतु निर्देश दिये गये है। साथ ही निर्माण कार्यों में पूरी तरह से मानकों का अनुपालन एवं गुणवत्ता को सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिये गये है।

Popular posts
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
पूर्वांचल विकास निधि से मिर्जापुर व बलिया के 4 मार्गों के निर्माण को धनराशि आवंटित
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image