ऐसी सूचना तंत्र विकसित करें कि किसी भी घटना की जानकारी सूचना कार्यालय को मिले
- सरकार की योजनाओं के प्रचार-प्रसार में सोशल मीडिया का अधिकाधिक उपयोग सुनिश्चित किया जाय : अवनीश कुमार अवस्थी

- सूचना तंत्र इस प्रकार विकसित करें कि किसी भी घटना की जानकारी सबसे पहले सूचना कार्यालय के माध्यम से शासन को सुलभ हो सके : शिशिर

लखनऊ, 19 अगस्त। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रदेश सरकार की योजनाओं का विभिन्न प्रचार माध्यमों से व्यापक प्रचार-प्रसार करने के साथ-साथ सोशल मीडिया (फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि) का भी उपयोग सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोगों को सोशल मीडिया से जोड़ा जाय, ताकि तीव्र गति से लोगों को सरकार की योजनाओं की जानकारी मिल सके, जिससे वे योजनाओं का अधिकाधिक लाभ उठा सकें। उन्होंने कहा कि शासन की योजनाओं व उपलब्धियों का समुचित प्रचार-प्रसार न करने वाले तथा कार्य के प्रति लापरवाही एवं उदासीनता बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

श्री अवस्थी आज सूचना विभाग स्थित आडिटोरियम में प्रदेश के सभी जनपदीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सूचना विभाग ही प्रत्येक व्यक्ति तक उसके समग्र विकास हेतु चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी पहुंचाता है और प्रदेश की छवि को भी जनमानस के समक्ष प्रस्तुत करता है, इसलिए अधिकारियों की यह जिम्मेदारी है कि वह अपने महती कत्र्तव्यों एवं दायित्वों को समझें और उनका भली-भांति निर्वहन करें। उन्होंने विभिन्न जनपदों में बन रहे सूचना संकुल के विषय में जानकारी लेते हुये कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिये। इसके साथ ही कार्यदायी संस्था से समन्वय स्थापित कर वस्तुस्थिति से मुख्यालय को भी समय-समय पर अवगत कराने को कहा।

सूचना निदेशक शिशिर ने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि वे अपने जिलाधिकारी से बेहतर समन्वय स्थापित करते हुये सोशल मीडिया के माध्यम से सक्रियतापूर्वक योजनाओं का प्रचार-प्रसार करें। साथ ही जनपद में किसी भी व्यक्ति, संगठन या समूह द्वारा जनहित में किये जा रहे सकारात्मक कार्यों को भी प्राथमिकता देते हुये आम-जनमानस तक प्रसारित करें। उन्होंने जनपदीय अधिकारियों से अपेक्षा की कि वे अपना सूचना तंत्र इस प्रकार विकसित करें कि विभिन्न प्रचार माध्यमों से पहले किसी भी घटना की जानकारी सूचना कार्यालय के माध्यम से शासन को सुलभ हो सके।  

उन्होंने अपर मुख्य सचिव, सूचना को जिला स्तरीय स्थाई समिति की बैठकों, प्रचार साहित्य की उपलब्धता एवं वितरण, न्यूज पोर्टल पर महत्वपूर्ण योजनाओं/सूचनाओं के अपलोड की प्रगति, मुख्यालय पर प्राप्त होने वाले समाचार पत्रों की क्लिपिंग्स, सरकार की उपलब्धियों से सम्बन्धित जारी लेख, फीचर्स, सफलता की कहानी, जनपदों में स्थापित होर्डिंग्स, एल0ई0डी0 वीडियो वैन तथा जनपद स्तर के सेवानिवृत्त कार्मिकों के सेवागत देयकों के भुगतान की अद्यतन स्थिति से अवगत कराया।

समीक्षा के दौरान सोशल मीडिया विशेषज्ञ डाॅ0 नवनीत आनंद द्वारा सभी जनपदीय अधिकारियों को सोशल मीडिया के माध्यम से योजनाओं का प्रचार-प्रसार किये जाने का प्रशिक्षण भी दिया गया।

इस अवसर पर प्रभारी अपर निदेशक श्रीनिवास त्रिपाठी, संयुक्त निदेशक विनोद कुमार पाण्डेय, उप निदेशक नवलकांत तिवारी, सहायक निदेशक एस0पी0 श्रीवास्तव सहित मुख्यालय एवं सूचना ब्यूरो के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Popular posts
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
पूर्वांचल विकास निधि से मिर्जापुर व बलिया के 4 मार्गों के निर्माण को धनराशि आवंटित
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image