रविदास जयंती पर पश्चिमी उप्र में सतर्कता बरतने का निर्देश

- संत रविदास जयंती पर पश्चिमी उप्र में सतर्कता बरतने का निर्देश
-पीएसी की आठ कम्पनियों को तैनात किया गया
-कुम्भ मेला के पाँचवें प्रमुख स्नान पर्व माघ पूर्णिमा के मद्देनजर प्रयागराज व आस-पास के जनपदों में भी रहेगी सतर्कता
-प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर वाराणसी के अलावा अन्य जनपदों में पुलिस की चौकसी रहेगी
लखनऊ, 18 फरवरी, सं.। संत रविदास जयंती के अवसर पर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में डीजीपी ओपी सिंह ने कप्तानों को सतर्कता बरने का निर्देश दिया है। आगरा, बरेली, बदायूँ, बागपत, सहारनपुर, मेरठ समेत अन्य कुछ जनपदों में पीएसी की आठ कम्पनियों को तैनात किया गया है। कल मंगलवार को संत रविदास जयंती पर व्यापक स्तर पर शोभायात्रा निकाली जाएगी। पुलवामा घटना को लेकर आक्रोशित जनता को ध्यान में रखकर ऐसा निर्णय लिया गया है।
आईजी कानून-व्यवस्था प्रवीण कुमार ने सोमवार को बताया कि विगत वर्षों की भाँति संत रविदास जयंती के शुभ अवसर पर प्रदेश के कई जनपदों में व्यापक स्तर पर शोभा यात्राएं निकाली जाती हैं। खासतौर पर पश्चिमी उप्र के कई जनपदों में शोभा यात्राओं के अलावा विभिन्न तरह के कार्यक्रमों का आयोजन कराया जाता है। वर्तमान में पुलवामा में शहीद हुए बीएसएफ जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए भीड़ की शक्ल में युवाओं की छोटी-छोटी रैलियां निकाली जा रही हैं। उनके नारों में पड़ोसी देश के विरूद्ध आक्रोष दर्शाता है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए पुलिस को सतर्कता बरने के लिए निर्देशित किया गया है कि अन्य किसी सम्प्रदाय की भावना को ठेस न पहुंचे और आपसी सौहार्द सकुशल बना रहे। उन्होंने बताया कि जनपद के कप्तान, एएसपी, सीओ व इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण पर रहेंगे।
आईजी कानून-व्यवस्था श्री कुमार ने बताया कि इसके अलावा कुम्भ मेला के पाँचवें प्रमुख स्नान पर्व माघ पूर्णिमा के मद्देनजर प्रयागराज के अलावा आस-पास के जनपदों में भी सतर्कता बरने को निर्देशित किया गया है। अंतिम नहान के समय देश के विभिन्न हिस्सों के अलावा विश्व भर से श्रद्धालु कुम्भ क्षेत्र में आ रहे हैं, पुलवामा घटना को संज्ञान में लेते हुए कहीं किसी तरह की अनहोनी न हो इसका पुलिस द्वारा पूरा ध्यान रखा जा रहा है। आईजी श्री कुमार ने बताया कि इसी क्रम में प्रधानमंत्री कल मंगलवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का दौरा करेंगे, इसलिए वहां आसपास के जनपदों में सतर्कता बरती जा रही है। पुलवामा में हुये आतंकी हमले के बाद श्री मोदी के दौरे की वजह से सुरक्षा कड़ी कर दी गयी है। प्रधानमंत्री वाराणसी में संत रविदास की जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। प्रधानमंत्री मोदी के दौरो में सुरक्षा के लिए आईपीएस स्तर के 25 पुलिस अधिकारियों के नेतृत्व में 12 हजार सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है।


Popular posts
डाबर का शुद्ध गाय घी के साथ घी श्रेणी में प्रवेश
इण्डो-नेपाल बार्डर मार्ग निर्माण परियोजना के अंतर्गत भूमि अध्याप्ती को 15 करोड़ रू. आवंटित
राष्ट्रीय स्वाभिमान, शक्ति, स्वाधीनता और संपन्नता के प्रतीक थे महाराणा प्रताप और राजा छत्रसाल : स्वामी मुरारीदास
Image
पूर्वांचल विकास निधि से मिर्जापुर व बलिया के 4 मार्गों के निर्माण को धनराशि आवंटित
उप्र सरकार भर्तियों के नाम पर नौजवानों से कर रही है लूट : वंशराज दुबे
Image